शराब बंदी के लिए करीरी में हुआ मतदान

शराब हारी और संघर्ष की विजय हुई - पूनम अंकुर छाबड़ा 

शराब बंदी के लिए करीरी में हुआ मतदान

शराब बंदी के लिए करीरी में हुआ मतदान, शराब हारी और संघर्ष की विजय हुई - पूनम अंकुर छाबड़ा 

 
करौली/करीरी। क्षेत्र के करीरी गांव के जागरूक लोगों ने अथक प्रयास कर अपने गाँव को शराब जैसे घातक दानव से बचाने की मुहिम चलाई और राज्य में बने कानून के तहत सरकार से मतदान करवाने  का आग्रह किया तो सम्पूर्ण शराब बंदी आन्दोलन जस्टिस फॉर छबड़ा, जगदम्बा युवा ग्रुप, करीरी के सभी ग्राम वासी के नैतिक समर्थन के बाद सरकार ने करीरी में शराब के खिलाफ मतदान करवाने की स्वीकृति प्रदान की ।

आज ग्राम पंचायत करीरी में शराब के खिलाफ जस्टिस फ़ॉर छाबड़ा जी संगठन, ओमप्रकाश घूमना, पवन जैन, प्रेम डेरा, सरपंच लिछमा देवी, विजय करीरी की अगुवाई में मतदान हुआ और जागरूक ग्रामीणों ने बढ़ चढ़कर मतदान प्रक्रिया में भाग लिया । आज शराबबंदी के लिए 5400 कुल मतदाता में से 3834 वोट  मतदान हुआ, कुल मतदान का 97%मतदान शराबबंदी के पक्ष में हुआ। आज पक्ष में 3746 वोट डले। वोटिंग के लिए संगठन से ओमप्रकाश घूमना व प्रेम राज सैनी ने कमान संभाली। पिछले कई दिनों से संगठन के सभी लोग करीरी में ही रह रहे थे।

सम्पूर्ण शराब बंदी आन्दोलन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबड़ा ने करीरी के जागरूक लोगों को बधाई देते हुए सरकार से मांग की प्रदेश का आम जन जब शराब के खिलाफ है तो सरकार को तुरन्त शराब बन्द कर देनी चाहिए और सरकार को अब भी कोई शक सूबा है तो प्रदेश में शराब बंदी के लिए मतदान करवा लेना चाहिए, जिससे दूध का दूध व पानी का पानी हो जायेगा।जिससे आम जन की भावना सरकार के सामने आ जायेगी अब प्रदेश का आम जन शराब रुपी दानव के आंतक से तंग आ चुका है।। 

जस्टिस फ़ॉर छाबड़ा जी संगठन ने इस शुभ अवसर पर सरपंच लिछमा देवी व सम्पूर्ण करीरी पंचायत को बधाई दी। अब वो दिन दूर नही जब शहिद गुरुशरण जी छाबड़ा का सपना पूरे भारत देश मे जल्द साकार हो जाएगा।