बाड़मेर के एक गांव के तालाब में मिला 3 बच्चों का शव , गांव में मच गई अफरा-तफरी ।

सबसे हटकर , सबसे अलग , सत्य के साथ राजस्थान की आवाज ।

बाड़मेर के एक गांव के तालाब में मिला 3 बच्चों का शव , गांव में मच गई अफरा-तफरी ।

बाड़मेर जिले के सिणधरी थानान्तर्गत टाकूबेरी गांव में तीन बच्चों के शव तालाब में मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर पुलिस देर रात मौके पर पहुंची। सुबह करीब 4 बजे बच्चों के शव को तालाब से निकाला गया। मृतक मासूम में दो सगे भाई हैं और एक बुआ का बेटा है, जो राखी से दो दिन पहले ही ननिहाल आया था।

सोमवार को दोपहर टाकूबेरी गांव से राकेश कुमार (14) पुत्र बाबुलाल, धनाराम (9) पुत्र बाबुलाल निवासी टाकूबेरी और किशोर (13) पुत्र जोगाराम निवासी चवा सोमवार को घर से बिना किसी को बताए चले गए थे। इसके बाद परिजनों ने तीनों के फोटो लोगों तक पहुंचा इन्हें ढूंढने की अपील की। रात करीब 9 बजे परिजन ढूंढते हुए गांव के पास बने तालाब के पास गए। वहां तालाब के बाहर तीनों बच्चों के जूते और कपड़े दिखे। उन्हें संदेह हुआ कि तीनों तालाब में नहाने गए होंगे। इस पर पुलिस को सूचना दी। घटना स्थल पर पहुंचने के बाद गोताखोर बुला रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। सुबह करीब 4 बजे तीनों बच्चों के शव को बाहर निकाला और सिणधरी मोरचरी में रखवाया है।
सिणधरी थानाधिकारी बलदेवराम के मुताबिक बच्चे अपने घर से नहाने के लिए गांव में बने तालाब में गए और वहां पर जूते व कपड़े उतारकर नहाने लगे। इस दौरान तीनों गहरे पानी में चले गए और डूबने से उनकी मौत हो गई। पुलिस को रात करीब 10 बजे सूचना मिली। मौके पर पहुंचकर गोताखोर की मदद से शवों को बाहर निकलवाया।

राखी से दो दिन पहले ही ननिहाल आया था किशोर :

राकेश कुमार व धन्नाराम दोनों सगे भाई है। किशोर चवा गांव में रहता है। राखी से दो दिन पहले शुक्रवार को ही वह अपने मामा के यहां आया था। तीनों सोमवार दोपहर 3 बजे अचानक घर से गायब हो गए थे। गांव के तालाब में ही नहाने चले गए। जहां डूबने से मौत हो गई।

स्थानीय लोगों की मदद से की तलाश :

सोमवार तीनों बच्चे टाकूबेरी गांव से अचानक गायब हो गए थे। परिजनों के ढूंढने के बाद भी नहीं मिले। तीनों के फोटो स्थानीय गांव समेत आस-पास के लोगों तक पहुंचाए गए। इसके बाद ग्रामीणों की मदद से तीनों की तलाश शुरू की तो तालाब के बाहर जूते व कपड़े मिले।