जोश और उत्साह के साथ मनाया स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह

शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने किया ध्वजारोहण, उल्लेखनीय कार्य करने वाली 70 प्रतिभाएं सम्मानित

जोश और उत्साह के साथ मनाया स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह

जोश और उत्साह के साथ मनाया स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह
शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने किया ध्वजारोहण, उल्लेखनीय कार्य करने वाली 70 प्रतिभाएं सम्मानित
बीकानेर, 15 अगस्त। स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह सोमवार को डॉ. करणी सिंह स्टेडियम में पूरे जोश और उत्साह के साथ मनाया गया।

शिक्षा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने ध्वजारोहण किया तथा सफेद कपोत एवं रंग-बिरंगे गुब्बारे हवा में छोड़कर शांति एवं समानता का संदेश दिया। उन्होंने परेड का निरीक्षण किया तथा मार्च पास्ट की सलामी ली। मार्च पास्ट में प्लाटून ने कदम से कदम मिलाकर अनेकता में एकता और अखंडता का संदेश दिया। इसमें आरएसी की तीसरी और दसवीं बटालियन, राजस्थान पुलिस, राजस्थान महिला पुलिस, राजस्थान अरबन होमगार्ड, एनसीसी की सात राज बटालियन, महारानी सुदर्शना कन्या महाविद्यालय, स्काउट, गाइड, बीबीएस तथा सोफिया स्कूल के कैडेट्स की टुकड़िया शामिल हुई। परेड का नेतृत्व वृत्ताधिकारी पुलिस दीपचंद ने किया। इस दौरान आरएसी और राजस्थान पुलिस के बैंड ने सुमधुर स्वर लहरियां बिखेरी।


राज्यपाल का प्रदेश की जनता के नाम संदेश का पठन अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ओमप्रकाश ने किया।
इस अवसर पर शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस, हमारे देश को आजादी दिलाने वाले देशभक्तों को याद करने का स्वर्णिम अवसर है। हमें लाखों देशभक्तों के प्रति कृतज्ञ होना चाहिए, जिन्होंने देश के लिए अपना सर्वस्व अप्रित कर दिया। उन्होंने कहा कि देश ने 75 वर्षों में सफलता के अनेक पायदान छूए हैं। आज हमारा देश तेजी से विकसित देशों की ओर बढ़ रहा है। ऐसे दौर में हमें देश के विकास में भागीदारी का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव और हर घर तिरंगा अभियान ने प्रत्येक देशवासी के मन में देशभक्ति के भाव जागृत किए हैं। उन्होंने बीकानेर के जनकवि बुलाकी दास ‘बावरा’ के गीत ‘अमर रहेगी याद वतन पर मरने मिटने वालों की, स्वतंत्रता की खातिर जहर का प्याला पीने वालों की’ भी पंक्तियों के माध्यम से देशभक्तों को याद किया।


इस दौरान राजस्थान पुलिस एवं एनसीसी की सात राज बटालियन द्वारा घुड़सवासी का हैरतअंगेज प्रदर्शन किया गया। व्यायाम प्रदर्शन में बार विद्यालयों के 440 विद्यार्थियों, योगा में दो विद्यालयों के 300 विद्यार्थियों, भारतीयम् में चार विद्यालयों की 460 छात्राओं, आत्मरक्षा तकनीक प्रदर्शन में पंद्रह विद्यालयों की 750 छात्राओं, सामूहिक गीत एवं नृत्य में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय महर्षि दयानंद मार्ग की छात्राओं ने हिस्सा लिया। इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली 70 प्रतिभाओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। आरएसी तीसरी प्लाटून कमांडर राहुल को मार्च पास्ट की सर्वश्रेष्ठ टुकड़ी का पुरस्कार दिया गया। वहीं उद्घोषक संजय पुरोहित, ज्योति प्रकाश रंगा और मंदाकिनी जोशी का सम्मान किया गया। कार्यक्रम के अंत में राजस्थान राज्य भारत स्काउट एवं गाइड द्वारा राष्ट्रगान किया गया।


इस अवसर पर डॉ. भीमराव अम्बेडकर फाउण्डेशन के महानिदेशक मदन गोपाल मेघवाल, जिला प्रमुख मोडाराम मेघवाल, संभागीय आयुक्त डॉ. नीरज के. पवन, पुलिस महानिरीक्षक ओमप्रकाश, जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल, पुलिस अधीक्षक योगेश यादव, शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल, एसीबी के पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र बिश्नोई सहित स्वतंत्रता सेनानियों के परिजन, जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी और बड़ी संख्या में आमजन मौजूद रहे।