विद्या भारती के आधारभूत विषय व्यक्तित्व निर्माण की नींव  - शिव प्रसाद संगठन मंत्री राजस्थान 

सबसे हटकर - सबसे अलग,, सत्य के साथ राजस्थान की आवाज।

विद्या भारती के आधारभूत विषय व्यक्तित्व निर्माण की नींव  - शिव प्रसाद संगठन मंत्री राजस्थान 

सप्त दिवसीय प्रांत प्रशिक्षण वर्ग में आचार्य सीख रहे हैं शारीरिक योग संगीत संस्कृत व नैतिक शिक्षा

केकडी 11 मई, शहर के अजमेर रोड पर विद्या भारती द्वारा संचालित पटेल आदर्श विद्या निकेतन माध्यमिक विद्यालय में चल रहे सात दिवसीय पूर्ण आवासीय विद्या भारती प्रांतीय आधारभूत विशेष प्रशिक्षण वर्ग के चौथे दिवस विद्या भारती राजस्थान के संगठन मंत्री शिव प्रसाद का प्रवास रहा। इस अवसर पर उन्होंने विद्या भारती के आधारभूत विषय की प्रभावी क्रियान्विति क्यों और कैसे विषय पर उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि विद्या भारती के पांच आधारभूत विषय शारीरिक, योग, संगीत, संस्कृत, नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा से बालकों के पंच कोश अन्नमय, प्राणमय, मनोमय, विज्ञानमय कोश एवं आनंदमय कोश का विकास होता है। सभी विद्यालय में 10 मिनट का अनिवार्य  शारीरिक खेल प्राणायाम योग अभ्यास स्वर साधना कराने का आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि संस्कृत भाषा संस्कृति का प्राण है, ज्ञान का भंडार है। बालकों को राष्ट्र धर्म के लिए तैयार करना विद्या भारती के आधारभूत विषयों का मुख्य उद्देश्य है।

प्रशिक्षण वर्ग के पालक अधिकारी किशन गोपाल कुमावत,विद्यालय के प्रधानाचार्य रामेश्वर चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि रमेश चंद शर्मा क्षेत्रीय संगीत प्रमुख, हेमंत जैन अधिवक्ता, नवल किशोर पारीक अधिवक्ता एवं भूपेन्द्र सिंह राठौड़ अधिवक्ता बार एसोसिएशन केकड़ी के अध्यक्ष ने मां सरस्वती मां,भारती के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलन कर वंदना का शुभारंभ किया वंदना पश्चात विद्या भारती अजमेर के जिला सचिव राजेन्द्र सिंह दहिया ने अतिथियों का स्वागत एवं परिचय कराया कार्यक्रम का संचालन संस्कृत के प्रान्त प्रमुख लादुराम सिरवी ने किया।आभारएवं शान्ति मंत्र के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।यह जानकारी विद्या भारती के प्रचार प्रमुख द्वारा दी गई।