दुर्घटना में मृत पति-पत्नी का एक ही चिता पर दाह संस्कार 

सबसे हटकर - सबसे अलग, सत्य के साथ राजस्थान की आवाज।

दुर्घटना में मृत पति-पत्नी का एक ही चिता पर दाह संस्कार 

दुर्घटना में मृत पति-पत्नी का एक ही चिता पर दाह संस्कार

रानोली। कस्बे के हाईवे 52 पर शिश्यूँ बस स्टैंड के पास गुरुवार को हुई दुर्घटना में मृत पति-पत्नी का शुक्रवार को गमगीन माहौल में एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया। शुक्रवार को पंचनामा के बाद सीकर से ज्योही शिश्यूँ निवासी उत्तम कुमावत(38) पुत्र द्वारका प्रसाद तथा कमला देवी(35) पत्नी उत्तम कुमावत की पार्थिव देह अन्तिम संस्कार के लिए घर पहुंची तो कोहराम मच गया। ग्रामीण भी अपने दुःख के आंसू पोछते हुए हिम्मत बटोर कर परिजनों को सांत्वना देते रहे। साथ ही दोनों की अर्थियां एक साथ देखकर हर कोई स्तब्ध था। संकट की इस घड़ी में दिलासा दिलाने वाला अपने आप को सुबकने से नहीं रोक पा रहा था। इस दौरान गांव में लोगों की भूख प्यास उड़ चुकी थी। गांव का हर कदम शोक संतृप्त परिवार की ओर बढ़ रहा था। दुर्घटना की खबर के साथ ही घरों के चूल्हे बुझ गए थे। शुक्रवार को भी घरों में चूल्हे नहीं जले। ग्रामीणों ने गमगीन माहौल में दोनों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया। इस दौरान बेटे विशाल ने माता-पिता को मुखाग्नि दी। उधर हादसे में घायल कुमकुम की हालत खतरे में बताई गई है। इसके अलावा एक पुत्र विशाल(16) बारहवीं कक्षा में अध्ययन कर रहा है। वह भी अकस्मात घटना गहरा विचलित है।