पागल कुत्ते ने 8 लोगो के कान, नाक और होंठ नोच कर हड्डी निकाल दी, कुत्ते को पकड़ने के बाद कुछ समय मे उसकी मौत हो गयी।

सबसे हटकर - सबसे अलग, सत्य के साथ राजस्थान की आवाज।

पागल कुत्ते ने 8 लोगो के कान, नाक और होंठ नोच कर हड्डी निकाल दी, कुत्ते को पकड़ने के बाद कुछ समय मे उसकी मौत हो गयी।

अलवर शहर के कंपनी बाग में सुबह घूमने आए लोगों पर एक पागल कुत्ता टूट पड़ा। कुत्ता एक बुजुर्ग की पूरी नाक तो महिला का एक कान चबा गया। एक युवक के दोनों होठ खा गया। इनके अलावा कुत्ते ने 5 अन्य लोगों को भी काटा। ये लोग खून से लथपथ कंपनी बाग से निकले। उसी समय पहुंची चेतक व निर्भया टीम ने घायलों को देखा तो उन्हें लगा किसी का झगड़ा हो गया है। बाद में पता लगा कि कंपनी बाग में पागल कुत्ते ने रिटायर्ड कर्मचारी हजारी लाल शर्मा सहित 8 लोगों को काट लिया। इसके बाद पुलिस टीम ने घायलों को तुरंत अस्पताल भिजवाया।

लोगों ने कुत्ते को मारा : 

कंपनी बाग में कई लोगों को लहूलुहान करने के बाद लोगों ने कुत्ते को घेरा। उसे तार से बांधकर कंपनी बाग के गेट के बांध दिया। उससे पहले कुत्ता बेहोश हो चुका था। कुछ देर तक कुत्ता गेट पर ही बंधा रहा। इसके बाद कुत्ते को एक-दो लट्ठ मारे। तब उसकी जान निकल गई। निर्भया पुलिस टीम से सुनीता मीणा व उमा कुमारी तुरंत मौके पर पहुंची थी, लेकिन नगर परिषद की टीम नहीं आई।

कंपनी बाग से भागे लोग :

जब लोगों को पता लगा कि कंपनी बाग में पागल कुत्ते ने कई लोगों को काट लिया है। यह सुनकर लोग कंपनी बाग से वापस घर चल दिए। जब एक-दो बुजुर्गों को खून से लथपथ देखा तो दहशत फैल गई। थोड़ी ही देर में कंपनी बाग खाली हो गया। इसी बीच कुछ युवाओं ने कुत्ते को घेरकर बांध दिया। बाद में कुत्ते की मौत हो गई। इसके बाद लोग वापस कंपनी बाग में घूमने लगे।

परिषद की टीम नहीं पहुंची

यहां चेतक पुलिस व निर्भया पुलिस टीम मौजूद रही, लेकिन काफी देर तक नगर परिषद से टीम नहीं आई। कुत्ते की मौत के बाद परिषद की टीम उसे उठाकर ले गई। उधर, कंपनी बाग विकास समिति के सौरभ शर्मा व मुरारी पाराशर ने बताया कि कंपनी बाग में काफी संख्या में आवारा कुत्ते घूमते हैं। सौरभ शर्मा ने कहा कि दो दिन में यह कुत्ता 10 से 12 लोगों को काट चुका है। मंगलवार को भी नगर परिषद को शिकायत दी थी। परिषद की टीम पहुंची भी, लेकिन कुत्ता नहीं मिला। अगले दिन उसी कुत्ते ने 8 लोगों को और काट लिया। कंपनी बाग समिति के पदाधिकारियों का कहना है कि कुछ लोग कुत्ते व बंदरों को कंपनी बाग में खाद्य सामग्री डालकर जाते हैं। इनको ऐसा करने से पहले रोका भी गया, लेकिन अब गुपचुप आ जाते हैं। पहले भी शिकायत की जा चुकी है। इसके लिए जिम्मेदार गार्डों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जानी चाहिए।