अक्षय तृतीया 14 मई शुक्रवार को मनाई जाएगी

अक्षय तृतीया 14 मई शुक्रवार को मनाई जाएगी

अक्षय तृतीया 14 मई शुक्रवार को मनाई जाएगी 

अक्षय तृतीया आखातीज 14 मई 2021 दिन शुक्रवार विशेष के विस्तृत जानकारी दे रहे हैं गुरु ज्योतिष शोध संस्थान गुरू रत्न भंडार वाले प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य परम पूज्य गुरुदेव पंडित हृदय रंजन शर्मा। अक्षयतृतीया, आखातीज 14 मई 2021 दिन शुक्रवार को अक्षय तृतीया है। स्वयं सिद्ध मुहूर्त के रुप में अक्षय तृतीया का बहुत अधिक महत्व है। माना जाता है इस दिन बिना पंचांग या शुभ मुहूर्त देखे आप हर प्रकार के मांगलिक कार्य सम्पन्न कर सकते है। इस दिन को बहुत शुभ माना जाता है।इसलिए इस दिन किसी भी कार्य को करने के लिए शुभ मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं होती। हिन्दू समुदाय के अतिरिक्त जैन धर्म के लोग भी इस तिथि को बहुत महत्व देते है।इस दिन बिना पंचांग या शुभ मुहूर्त देखे आप हर प्रकार के मांगलिक कार्य जैसे विवाह, सगाई, गृह प्रवेश, वस्त्र आभूषण आदि की खरीदारी, जमीन या वाहन खरीदना आदि को कर सकते है। पुराणों में इस दिन पितरों का तर्पण, पिंडदान या अन्य किसी भी तरह का दान अक्षय फल प्रदान करता है। इस दिन गंगा में स्नान करने से सभी पाप नष्ट हो जाते है। इतना ही नहीं इस दिन किये जाने वाला जप, तप, हवन, दान और पुण्य कार्य भी अक्षय हो जाते है। इस दिन सूर्य और चंद्रमा दोनों उच्च राशि मे होते है। अतः मन और आत्मा दोनों से बलवान रहते है लोग तो इस दिन जो भी कार्य करते है वो मन और आत्मा से जुड़ा रहता है ऐसे में किया पूजा पाठ और दान पुण्य बहुत महत्वपूर्ण और प्रभावी होते है।