इंदौर शहर की एक इमारत में भीषण आग से 7 लोग जिंदा जले

सिरफिरे प्रेमी ने प्रेमिका की गाड़ी में लगाई आग

इंदौर शहर की एक इमारत में भीषण आग से 7 लोग जिंदा जले

इंदौर। इंदौर शहर के विजय नगर क्षेत्र की स्वर्णबाग कालोनी में शुक्रवार देर रात दिल दहलाने वाली घटना हुई। बस डिपो के सामने बनी दो मंजिला इमारत में आग लगने से सात लोगों की मौत हो गई। आग इमारत में रहने वाली एक युवती के प्रेमी ने लगाई थी, जिसकी युवती से अनबन चल रही थी। पार्किंग में रखी गाड़ियों से भभकी आग ने पूरी इमारत को चपेट में ले लिया और दो महिलाओं सहित पांच पुरुषों की जलने एवं दम घुटने से मौत हो गई। जान बचाने के लिए दो युवकों ने दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी। इससे उनकी कमर में गंभीर चोट आई। दो महिलाओं को रहवासियों ने खिड़कियां व ग्रिल उखाड़ कर रस्सियों से बाहर निकाला। पुलिस ने इमारत के मालिक इंसाफ पटेल और उसके भाई एहसान को हिरासत में लिया है। वारदात को अंजाम देने वाला सिरफिरा प्रेमी फरार है।

घटना शुक्रवार की रात तीन बजे की है। शनिवार दोपहर तक पुलिस और एफएसएल विशेषज्ञ आग की वजह शार्ट सर्किट को मान कर जांच करते रहे, लेकिन दोपहर बाद सीसीटीवी फुटेज से खुलासा हुआ कि कालोनी में रहने वाले संजय नामक युवक ने एक युवती के स्कूटर में आग लगाई थी। इसी इमारत में रहने वाली एक युवती से संजय का प्रेम प्रसंग चल रहा था, लेकिन कुछ दिनों से उनकी अनबन चल रही थी। आरोपित संजय ने रात ठीक 2.54 बजे इमारत में प्रवेश किया और वहां खड़ी एक गाड़ी से बोतल में पेट्रोल निकाला। 3.01 बजे उसने गाड़ी में आग लगाई और फिर सीसीटीवी कैमरे को तोड़ने का प्रयास किया। उसने मीटर से भी छेड़छाड़ की और थोड़ी देर बाद बाहर निकल गया। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है। इंसाफ ने भी फुटेज देख संजय की पहचान कर ली, जो कुछ समय पहले तक इसी इमारत में रहता था।

मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता

मुख्यमंत्री ने मृतकों परिजनों को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। हादसे में स्वर्णबाग निवासी ईश्वर सिंह सिसोदिया उनकी पत्नी नीतू सिसोदिया, आशीष राठौर (झांसी), गौरव पंवार (बैतूल), आकांक्षा अग्रवाल (देवास), समीर सिंह (ग्वालियर) और देवेंद्र साल्वे (बैतूल) की मौत हुई है। फिरोज, मुनिरा, विशाल प्रजापति, अरशत और सोनाली पवार घायल हुए हैं। उनका एमवाय अस्पताल में इलाज जारी है। उधर, पुलिस ने इमारत के मालिक इंसाफ पटेल और उसके भाई एहसान पटेल को हिरासत में ले लिया। कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि मकान मालिक पर पुलिस प्रशासन ने प्रकरण दर्ज करने की तैयारी कर रहा है।

प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने भी जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने ट्वीट कर दुख जताया है। प्रधानमंत्री ने लिखा- 'मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ अग्निकांड अत्यंत दुखद है। इस त्रासदी में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के प्रति मैं गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।' मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया- 'इंदौर के स्वर्ण बाग कालोनी में हुए हादसे में कई अनमोल जिंदगियों के असमय निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। मैंने इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं। जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये दिए जाएंगे।