21 सूत्री मांग पत्र और तृतीय श्रेणी अध्यापकों स्थानांतरण के संबंद में राज्य व्यापी आंदोलन के तहत प्रदर्शन और ज्ञापन

सबसे हटकर - सबसे अलग, सत्य के साथ राजस्थान की आवाज

21 सूत्री मांग पत्र और तृतीय श्रेणी अध्यापकों स्थानांतरण के संबंद में राज्य व्यापी आंदोलन के तहत प्रदर्शन और  ज्ञापन

बीकानेर 5 अगस्त 2022, राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील की प्रदेश कार्यकारिणी के निर्णय अनुसार संगठन के 21 सूत्री मांग पत्र एवं तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण की प्रक्रिया को लेकर आज आंदोलन के द्वितीय चरण में संगठन के प्रदेश महामंत्री यतीश वर्मा एवं संगठन के प्रदेश सलाहकार मंडल के अध्यक्ष सुभाष आचार्य के नेतृत्व में  प्रतिनिधिमंडल ने आज अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री ओम प्रकाश से मिलकर संगठन का मांग पत्र और ज्ञापन सौंपा।

संगठन की प्रमुख मांगों में राजस्थान के कार्मिकों के लिए समान काम समान वेतन की नीति लागू कर पूर्व के वेतनमान में उत्पन्न विसंगतियों का निराकरण करना, पारदर्शी स्थाई शिक्षक स्थानांतरण नीति नियम जारी करना, तृतीय श्रेणी, द्वितीय श्रेणी एवं व्याख्याताओं की वेतन विसंगतियों को दूर  करना, महात्मा गांधी अंग्रेजी विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति आरपीएससी के माध्यम से अलग कैडर बनाकर करना, विद्यार्थी हित में शिक्षा सेवा नियम 2021 जिसमें स्नातक एवं स्नातकोत्तर में समान विषयों के शिक्षकों को पदोन्नति किया जावे एवं वरिष्ठ  अध्यापक से व्याख्याता पद पर पदोन्नति में नए सेवा नियम 2021 को लागू करने की तिथि पूर्व में  डिग्री प्राप्त यूजी-पीजी उत्तीर्ण शिक्षकों को व्याख्याता पद पर पदोन्नति का लाभ दिया जाए, अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम के अनुसार विद्यालयों में शिक्षक छात्र अनुपात कक्षा कक्ष वार किया जावे ,समग्र शिक्षा अभियान का मुख्यालय बीकानेर करना आदि मांगों को लेकर ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन देने वालों में डूंगरगढ़ से तहसील अध्यक्ष जयप्रकाश कस्बा,

बीकानेर शहर अध्यक्ष अजय भाटी, जिला मंत्री गोविंद भार्गव, कोलायत तहसील अध्यक्ष रामरतन उपाध्याय ,जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष गुरुप्रसाद भार्गव ,जिला उपाध्यक्ष मोहम्मद असलम, प्रांतीय प्रतिनिधि मोहम्मद इलियास जोइया, बीकानेर शहर उपाध्यक्ष गौतम जाजड़ा, खाजूवाला तहसील सभाध्यक्ष राजकुमार ओझा आदि शिक्षक नेता नेता शामिल थे।